कौनसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज वेबसाइट बनाने के लिए उपयोग होती है HTML/HTML5 CSS3 Bootstrap

HTML/JavaScript

Click Here To Join Bulletprofit

कौनसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज वेबसाइट बनाने के लिए उपयोग होती है HTML/HTML5 CSS3 Bootstrap


 

  • एच. टी. एम. एल. (HTML / HTML5): एच. टी. एम. एल. या हाइपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज का काम वेब पेज को डिज़ाइन करने के लिए किया जाता है. इंटरनेट ब्राउज़र जब किसी वेब पेज को पास करता है तो वो उस पेज पर उपयोग किये गए HTML टैग के अनुसार उसके कंटेंट तो प्रदर्शित करता है. अभी फ़िलहाल HTML का नया वर्जन HTML5 प्रचलन में है. ध्यान देने वाली बात है कि एच. टी. एम. एल. कोई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं है, यह बस वेब पेज को फॉर्मेट या सही आकार देने का काम करता है.
  • सी. एस. एस. (CSS3): सी. एस. एस. यानि कैस्केडिंग स्टाइल शीट्स ही एच. टी. एम. एल. को सही आकार और सुंदरता प्रदान करता है. यह HTML के साथ मिलकर वेब पेज को रंग, फॉण्ट, लेआउट और सही बनावट देकर इसको सुन्दर और आकर्षक बनाता है.
  • बूटस्ट्रैप (Bootstrap): दरअसल यह CSS फ्रेमवर्क है जो वेब डिज़ाइनर और डेवलपर को तेज, सुन्दर और आकर्षक वेब पेज डिज़ाइन करने में काफी मदद करता है. इसमें पहले से ही कई विभिन्न तरह के स्टाइल, थीम, फॉण्ट और रंगों आदि का समावेश होता है और डिज़ाइनर को बस अपनी जरुरत के हिसाब से उनको प्रयोग करना होता है. बूटस्ट्रैप फ्रेमवर्क आज काफी चलन में है और यह मोबाइल फ्रेंडली भी है.
  • जावास्क्रिप्ट (JavaScript): जावास्क्रिप्ट एक बहुत ही प्रसिद्ध वेब प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जो कि क्लाइंट साइड या उपयोगकर्ता के ही डिवाइस पर ही रन और एग्जक्यूट होता है. यह काफी तेज और हल्का होने की वजह से जल्दी लोड होता है साथ ही साथ यह सर्वर साइड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे कि PHP या .NET आदि के साथ काफी अच्छे से कम्यूनिकेट कर पाता है.
  • जे-क्वेरी (jQuery): जावास्क्रिप्ट के प्रयोग को आसान बनाने के लिए एक प्रकार की पूर्व लिखित सामान्य और अधिकांशतः उपयोग किये जाने वाले फंक्शन और कोड ब्लॉक का एक विशाल संग्रह जावास्क्रिप्ट लैंग्वेज में तैयार किया गया जिससे कि वेब डेवलपमेंट के काम में तेजी लाने में काफी मदद मिलती है और इसको सीखना भी काफी आसान है. इसको सीखने से पहले आपको जावास्क्रिप्ट का मूलभूत ज्ञान होना भी जरूरी है. जिन चीज़ों के लिए जावास्क्रिप्ट में आपको बड़े-बड़े कोड लिखने पड़ते थे उन्ही चीज़ों को आप जे-क्वेरी की सहायता से आसानी से कम से कम लाइन के कोड में अंजाम दे सकते हैं.
  • जावास्क्रिप्ट ऑब्जेक्ट नोटेशन (JSON): जेसन (JSON) या जावास्क्रिप्ट ऑब्जेक्ट नोटेशन (JavaScript Object Notation) एक ऐरे (Array) के रूप में पूरी की पूरी क्रमबद्ध श्रृंखला होती है. इसमें कई सारे की (Key) और उनकी वैल्यू (Value) का समावेश होता है जिनको आसानी से पढ़ा भी जा सकता है. इसका उपयोग मुख्य रूप से एप्लीकेशन और सर्वर के बीच डाटा ट्रांसफर के लिए किया जाता है. बाद में इस प्राप्त रॉ डाटा को HTML और CSS की सहायता से सही और सुन्दर आकार प्रदान कर वेब पेज पर डिस्प्ले किया जाता है. जेसन की सबसे बड़ी खूबी यह है कि लगभग हर तरह के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज इसको सपोर्ट करते हैं इसलिए यह वेब, मोबाइल और यहाँ तक कि डेस्कटॉप एप्लीकेशन में भी खूब प्रयोग किया जाता है.
  • एंगुलर जे. एस. (Angular JS): यह एक जावास्क्रिप्ट आधारित फ्रंट एन्ड वेब एप्लीकेशन फ्रेमवर्क है जिसको गूगल भी उपयोग और सपोर्ट करता है. यह सिंगल पेज वेब एप्प के साथ-साथ कोरडोवा और आयनिक जैसे हाइब्रिड मोबाइल एप्लीकेशन डेवलपमेंट में भी बहुत ही उपयोगी है. यह एक ही पेज पर बिना रीलोड हुए HTML DOM एलिमेंट के साथ कंटेंट को जोड़ने और हटाने में सक्षम है साथ ही साथ यह अलग-अलग तरह के बैक-एन्ड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे कि PHP, .NET, NodeJS और Python के साथ आसानी से काम करता है.
  • पी. एच. पी. (PHP): बैक एन्ड वेब डेवलपमेंट में PHP आज भी अत्यंत प्रसिद्ध सर्वर साइड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है. यह एक ओपन सोर्स प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है और इसकी कम्युनिटी भी काफी बड़ी है. यह सर्वर पर काफी तेजी से रन करता है और लगभग हर तरह के डेटाबेस के साथ यह कम्यूनिकेट कर पाने में सक्षम है. इसका उपयोग HTML पेज पर आसानी से किया जाता है और इसका एक्सटेंशन हमेशा .php ही होता है जिसको बाद में सर्वर कॉन्फ़िगरेशन फाइल जैसे कि .htaccess के जरिए कोई भी एक्सटेंशन या नाम दे दिया जाता है. एक सफल वेब डेवलपर बनने के लिए आपको PHP भाषा का ज्ञान होना बहुत ही जरुरी है. यह सीखने में भी काफी आसान है. इसके अधिकांश सिंटेक्स C और Perl से काफी मिलते हैं. इसकी पॉपुलरटी का अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते हैं कि आज भी 75 से 80 प्रतिशत तक वेबसाइट में सर्वर साइड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के रूप में PHP का ही उपयोग होता है. यहाँ तक कि फेसबुक, याहू, विकिपीडिया और आपका हमारा क्वोरा भी PHP का उपयोग कर रहा है. वर्डप्रेस जैसा CMS भी PHP में ही डेवेलप किया गया है. हालाँकि आज PHP को NodeJS , Python और TypeScript जैसे बैक एन्ड प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज से काफी चुनौती मिल रही है लेकिन इन सबके बावजूद PHP आज भी अपना दबदबा बनाये हुए है.
  • माय एस. क्यू. एल. (MySQL): सर्वर पर डाटा को एक सही और क्रमबद्ध रूप में सुरक्षित रखने और खोजने के लिए हमें एक डेटाबेस की जरुरत होती है. वेब डेवलपमेंट में MySQL एक अत्यंत प्रसिद्ध ओपन सोर्स रिलेशनल डेटा बेस मैनेजमेंट सिस्टम (RDBMS) है. इसमें सारे सर्वर डाटा एक तालिकाबद्ध (Tabular Form) रूप में सुरक्षित किये जाते हैं. यह PHP जैसे सर्वर साइड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के साथ काफी अच्छे से तालमेल बैठा पाता है. इसकी मदद से नए टेबल बनाना, नए डाटा डालना, पुराने डाटा तलाशना, अलग-अलग टेबल, रौ और कॉलम को मर्ज करना आदि काम बड़े ही आसानी से कर लिए जाते हैं. MySQL काफी बड़े डेटाबेस को भी आसानी से हैंडल कर पाने में सक्षम है.

Post a Comment

0 Comments