HTML/JavaScript

डाटा अनायालितिक के बारे में जानें।what is data analysis?

डाटा एनालिसिस डेटा से जानकारी निकालने की प्रक्रिया है।
इसमें डाटा सेट स्थापित करने, प्रोसेसिंग के लिए डेटा तैयार करने, मॉडलों को लागू करने, प्रमुख निष्कर्षों की पहचान करने और रिपोर्ट बनाने सहित कई चरणों को शामिल किया गया है।
 डाटा विश्लेषण में डाटा माइनिंग, डिस्क्रिप्टिव और प्रेडिक्टिव एनालिसिस, सांख्यिकीय एनालिसिस, बिजनेस एनालिसिस और बड़े डाटा एनालिसिस शामिल हो सकते हैं।
अगर आसान भाषा में समझें तो “वो सभी तरीके जिससे आप डेटा को तोड़ सकते हैं, समय के साथ रुझान का आकलन कर सकते हैं, और एक सेक्टर या माप को दूसरे की तुलना कर सकते हैं।
डाटा एनालिटिक्स के कितने प्रकार होते है।
1.डिस्क्रिप्टिव एनालिसिस बताता है कि किसी निश्चित अवधि में क्या हुआ है।
2.प्रेडिक्टिव एनालिटिक्स निकट भविष्य में होने वाली संभावनाओं के लिए आगे बढ़ती है।
3.डायग्नोस्टिक एनालिटिक्स कुछ और क्यों हुआ पर केंद्रित है। इसमें अधिक डाइवर्स डेटा इनपुट और कुछ अनुमान लगाया जाता है।
4.प्रेस्क्रिप्टिव एनालिसिस कार्रवाई के पाठ्यक्रम का सुझाव देने के क्षेत्र में आता है।
डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए कैंडिडेट्स के पास मैथ्स, कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, एप्लाइड साइंस, मेकेनिकल इंजीनियरिंग में एमटेक और एमएस की डिग्री होना जरूरी है. 
इसके अलावा Python, Java, R, SAS प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की समझ होना भी बेहद जरूरी है. सबसे ज्यादा जरूरी है कि कैंडिडेट्स में नए प्रोग्राम बनाने के लिए ग्लोबल बिजनेस के साथ काम करने की योग्यता होनी चाहिए.
* कितनी है सैलरी
विदेशों में डेटा साइंटिस्‍ट को औसतन 63 लाख रुपए सलाना का पैकेज मिलता है. एक अनुमान के मुताबिक भारत में एक डेटा साइंटिस्ट जिसको 10 साल का अनुभव है उसकी सैलरी करीब 50 लाख रुपये सालाना होती है।

ARTICLE :MOHD SHOAIB

Post a Comment

1 Comments