HTML/JavaScript

Google खोज में इन 5 चीजों को कभी न देखें

Google खोज हमारे लिए कितना महत्वपूर्ण है, हम इस बात से अनुमान लगा सकते हैं कि जब भी हम कुछ नया सीखना चाहते हैं या कुछ सीखना चाहते हैं, तो हम इसका सहारा लेते हैं। वर्तमान में भारत में 700 मिलियन इंटरनेट उपयोगकर्ता हैं, जो Google खोज पर खोज करते हैं। चाहे आप घर या ऑफिस में हों या कहीं घूमने जा रहे हों, Google Search का ही सहारा है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि कभी-कभी Google Search में हम कुछ चीजों की खोज भी करते हैं, इसके कारण हमें भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। आज हम आपको 5 ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें आपको गूगल सर्च में सर्च करना नहीं भूलना चाहिए, नहीं तो आपको इन्हें लेना पड़ सकता है।

कंपनियों की ग्राहक देखभाल संख्या
पिछले एक या दो दशकों से ग्राहक सेवा बहुत लोकप्रिय हो गई है। हम किसी भी उत्पाद का उपयोग कर रहे हैं और किसी भी समस्या के मामले में, हम सीधे ग्राहक देखभाल को कॉल करने के लिए सोचते हैं। कई बार हम किसी कंपनी के कस्टमर केयर नंबर को नहीं जानते हैं, ऐसे में हम गूगल सर्च का सहारा लेते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि गूगल पर किसी भी कस्टमर केयर नंबर को सर्च करना नुकसानदेह साबित हो सकता है।
आपको बता दें कि साइबर क्राइम को बढ़ावा देने वाले हैकर्स गूगल सर्च में किसी भी कंपनी का फर्जी या फर्जी हेल्पलाइन नंबर फ्लोट करते हैं। ऐसे में जब आप उस नंबर पर कॉल करते हैं तो आपका नंबर हैकर्स तक पहुंच जाता है। जिसके बाद हैकर आपके नंबर पर कॉल कर साइबर क्राइम को अंजाम दे सकते हैं, जिसमें सिम स्वैप जैसी घटनाएं भी शामिल हैं।

ऑनलाइन बैंकिंग सेवा
आजकल डिजिटल लेनदेन का चलन काफी बढ़ गया है। ऐसे में अगर हमें किसी भी तरह की बैंकिंग सेवा का इस्तेमाल करना है तो हम वो काम ऑनलाइन करते हैं। ऐसी स्थिति में, कई बार ऐसा होता है कि हम Google खोज में बैंक की वेबसाइट खोजते हैं। हैकर्स गलत कस्टमर केयर नंबर की तरह ही गलत यूआरएल फ्लोट करके असली वेबसाइट का क्लोन बना सकते हैं। ऐसी स्थिति में, जब भी आपको ऑनलाइन बैंकिंग सेवा का उपयोग करना हो, तो आपको बैंक की आधिकारिक वेबसाइट का URL दर्ज करना चाहिए। आधिकारिक यूआरएल बैंक के डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, पासबुक या चेक बुक पर दर्ज किया जाता है। वहां दी गई बैंक की आधिकारिक वेबसाइट के URL का उपयोग करके बैंकिंग सेवा का उपयोग करें।

चिकित्सा पर्ची
अगर हम बीमार पड़ते हैं और Google पर बीमारी के लक्षणों के आधार पर दवा खोजते हैं तो अक्सर हम डॉक्टर से सलाह नहीं लेते हैं। यह हमारे लिए बहुत हानिकारक साबित हो सकता है। जब भी आप बीमार हों, अपने नजदीकी डॉक्टर से सलाह लें। Google आपको सटीक जानकारी प्रदान नहीं करता है, वही जानकारी उस पर उपलब्ध है। चिकित्सा और बीमारी के मामले में ऐसी गलतियों के बारे में मत भूलना।

ऐप या सॉफ्टवेयर
हम अक्सर Google खोज के माध्यम से फ़िशिंग या नकली ऐप्स और सॉफ़्टवेयर डाउनलोड करते हैं, जो हमारे डिवाइस को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ऐसी स्थिति में, आप Google Play Store या ऐप स्टोर से ही ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। इतना ही नहीं, कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट से कोई भी सॉफ्टवेयर डाउनलोड करें।

सरकारी वेबसाइट
इन दिनों हैकर्स सरकारी वेबसाइट और पोर्टल की डुप्लीकेट वेबसाइटों को भी बढ़ावा दे रहे हैं। कई उपयोगकर्ता आसानी से इन नकली वेबसाइटों के शिकार हो सकते हैं। आधिकारिक वेबसाइट के अंत में gov.nic.in निश्चित रूप से मेंशन है। किसी भी सरकारी वेबसाइट को सिर्फ वेब पते पर देखकर खोलें।

   ( दोस्तों यह न्यूज़ अच्छी लगी तो इसे शेयर करें और हमें प्लीज फॉलो जरूर करें )

ARTICLE :MOHD SHOAIB

Post a Comment

1 Comments