HTML/JavaScript

अगर आप भी कर रहे है ऑनलाइन ट्रांजेक्शन तो बचें नहीं तो पड़ सकते ये…बड़ी मुसीबत में

आजकल ज्यादा से ज्यादा लोग ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की सुविधा लेते हैं क्योंकि इसके जरिए तुरंत खाते में पैसा आ जाता है और आपको बैंक के चक्कर भी नहीं लगाने पड़ते हैं. हालांकि एक बड़ा तथ्य ये भी है कि जैसे-जैसे ऑनलाइन ट्रांजेक्शन का चलन बढ़ रहा है, उसी रफ्तार से फ्रॉड की संख्या भी बढ़ रही है.
आपके साथ भी ऐसा न हो इसके लिए आपको सतर्क रहना चाहिए और कुछ ऐसे टिप्स का पालन करना चाहिए जो आपको धोखाधड़ी से बचा सकें. यहां जानिए कौन से हैं वो टिप्स.

कभी भी किसी के साथ अपने कार्ड की डिटेल्स शेयर न करें
कोई भी व्यक्ति जो आपका विश्वस्त न हो उसके साथ अपने कार्ड की डिटेल्स शेयर न करें. हालांकि ऐसी सलाह भी है कि अपने विश्वस्त लोगों के साथ भी कार्ड की डिटेल्स शेयर नहीं करनी चाहिए.

कार्ड की फोटो कहीं अपलोड न करें
अक्सर लोग अपने कार्ड की डिटेल्स बार-बार भरने के चक्कर से बचने के लिए कार्ड को अपलोड कर देते हैं. भूलकर भी ऐसी गलती न करें और थोड़ा सा कष्ट भले ही उठाना पड़े लेकिन उसके बदले में आपको अपने पैसे की सुरक्षा मिल रही है, ये ध्यान रखें.

सीवीवी, एक्सपायरी, OTP किसी के साथ साझा न करें
कार्ड का सत्यापन नंबर यानी सीवीवी और इसकी एक्सपायरी किसी के साथ शेयर न करें. चाहे कोई खुद को बैंक, इंश्योरेंस, मोबाइल वॉलेट की तरफ से अधिकृत शख्स ही क्यों न क्लेम कर रहा हो. इसके अलावा ओटीपी भी ऑनलाइन ट्रांजेक्शन में बेहद अहम कारक होता है तो इसको भी किसी के साथ शेयर न करें. चाहे ओटीपी पुराने ट्रांजेक्शन का ही क्यों न हो इसे भी किसी के साथ शेयर न करें.

कार्ड पिन डालते समय उसे हाथ से ढक लें
दुकानों पर, एटीएम पर ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते समय चार अंकों वाला पिन डालने की जरूरत होती है तो इसे डालते समय छुपा लें. हाथ से इसे ढक लें ताकि पीछे से कोई इसे देख न ले.
इसको यूज करते समय आपको पासवर्ड की जरूरत होती है तो इसको समय-समय पर बदलते रहें. बहुत लंबे समय तक एक ही पासवर्ड को यूज न करें.

Post a Comment

1 Comments