कहीं आप हैकर्स का अगला शिकार तो नहीं???

HTML/JavaScript

कहीं आप हैकर्स का अगला शिकार तो नहीं???

दोस्तों आधुनिक दौर में हम टेक्नोलॉजी से इतना जुड़ गए हैं कि चंद सेकेंड भी इनसे अलग नहीं रह सकते।आज के समय में सब कुछ डिजिटल होते जा रहा है।स्कूल के बच्चों की फीस से लेकर बिजली के बिल तक,हमारे बैंक खाता हों या छोटी सी दैनिक दूकान सबका लेखा जोखा हम घर बैठे कर सकते हैं।इसके अलाबा यदा-कदा हैकरों के बारे में आप सबने सुना ही होगा।हैकर वो लोग होते हैं जो इस टेक्नोलॉजी दुनियां को अपना घर समझते हैं।ये लोगों के उन पैसो को बैठे-बैठे चुराते हैं जिन्हें वह कई महीनों और सालों से अपने बच्चों,बेटी की शादी,आपात स्थिति आदि के लिए अपनी सालाना बचत का कुछ भाग बैंको या अन्य पंजीकृत संस्थानों में जमा करते हैं।
हाल ही एक रिपोर्ट के अनुसार देश में साइवर क्राइम में हर साल 10% की वृद्धि हो रही है।डिजिटल युग में हमारा हर काम आसान हो गया है।पहले लम्बी लाइन में घंटों खड़े होकर बिजली का बिल या पानी का बिल जमा किया जाता था।परन्तु आज के समय में घर बैठे उन बिलों को कुछ ही पल में जमा कर दिया जाता है।
डिजिटिलीकरण से हमारा समय तो बच रहा है लेकिन इन्ही के जरिये हैकर हमारे बैंक खातों को निशाना बना रहे हैं।हमारी मेहनत से कमाया हुआ पैसा हमसे बिना मांगे हमारे बैंक से उड़ा ले जा रहे हैं।हालांकि इन सबकी वजह काफी हद तक हम और वो संस्थाएं होती हैं जहाँ हम अपनी बचत को जमा करते हैं।ये संस्थाएं इसलिए जिम्मेदार हैं क्योंकि इन्होने अपने ग्राहकों को सुरक्षित रखने के लिए कोई ऐसे ठोस कदम नहीं उठाय जिससे इन आकस्मिक खतरों से निपटा जा सके।दूसरी तरफ हम भी इन घटनाओ का कारण होते हैं।हम सोशल मीडिया जैसे-इंस्टाग्राम,वाट्सअप,गूगल आदि प्लेटफार्म में दिखाई जाने वाले विज्ञापनों तथा पैसों को कमाने की लालच में ऐसी वेबसाइटस को अपने फ़ोन में चलाने लग जाते हैं जिससे हैकर हमारी सारी पर्सनल रिकार्ड्स को फ़ोन से चुरा लेते हैं।ये वो निर्दयी लोग होते हैं जो ये नहीं सोचते की हम जिसका पैसा निकालने जा रहे हैं उसको ये पैसे कितने सपने दिखाते होंगे।हालांकि हैकरों पर सरकार अभी तक लगाम कसने में नाकाम रही है।परन्तु हम चाहें तो इनको अपने पर्सनल डाटा तक पहुंचने से रोक सकते हैं-
  1. हैकरों से सुरक्षित रहने के लिए हमें उन वेबसाइट से दूरी बनानी होगी जिनको हम नहीं जानते।
  2. किसी भी ऐप को अपने स्मार्ट फ़ोन में डाउनलोड करने के बाद ऐप द्वारा मांगी गयी परमिशनों को बिना सोचे समझें आज्ञा नहीं देनी चाहिए।
  3. सर्च इंजन में किसी भी टॉपिक को सर्च करते समय दिखाये जाने वाले विज्ञापनों से दूर ही रहने में भलाई होगी।
  4. अगर फ़ोन में अनजान मैसेज आते हैं और उसमे किसी वेबसाइट का लिंक दिया हैं तो किसी भी हालत में उस लिंक पर क्लिक ना करें।किसी ऐप या वेबसाइट में पासवर्ड बनाते समय ये याद रखना होगा की हमारा पासवर्ड मजबूत हो।
  5. बैंक से सम्बंधित मैसेज,पासबुक,एटीएम आदि को किसी ऐसे व्यक्ति को ना दिखाए जिसके ऊपर आपको विश्वास ना हो।

Post a Comment

1 Comments