HTML/JavaScript

सोशल मीडिया एडवरटाइजिंग में भी अपनाऍ सही तरीका

स्‍मॉल बिजनेस के लिए मार्केटिग और एडवरटाइजिंग हमेंशा से चैलेंजिग रहा है। इसलिए जरूरी है कि स्‍टार्टअप या स्‍मॉल बिजनेस एडवरटाइजिंग के ट्रेडिशनल तरीकों को गुड बॉय कहें और मॉडर्न एडवरटाइजिंग आइडिया का अपनांए। यह आइडिया है सोशल मीडिया एडवरटाइजिंग। आइडिया कितना हित है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वर्ष 2019 में इंडिया की डिजिटल एडवरटाइजिंग इंडस्‍ट्री में सोशल मिडिया एडवरटाइजिंग 28 प्रतिशत शेयर के साथ टॉप पर रहा। डिजिटल एडवरटाइजिंग बजट में सोशल मीडिया के पार्ट को अधिक शेयर देना चाहिए। सबसे अच्‍छी बात इसकी यह भी है कि यह ज्‍यादा महंगा भी नही पड़ता और इफेक्‍ट भी जल्‍दी दिखाता है

हिट रहे है सभी प्‍लेटफाॅॅम - डिजिटल एडवरटाइजिंग इंडस्‍ट्री के वर्ष 2025 तक 58 हजार करोड़ रूपये तक पहुॅचने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसमं बडा शेयर सोशल मीडिया एडवरटाइजिंग से आने की संभावना व्‍यक्‍त की जा रही है। एक्‍सपर्ट का कहना है कि बीते वर्ष सोशल मीडिया एडवरटाइजिंग के लिए जो प्‍लेटफॉर्म सबसे अधिक पसंद किए गए उनमें फेसबुक, इंस्‍टाग्राम, टिक-टाक, पिंटरेस्‍ट सहित कई अन्‍य सम्मिलित है। इन प्‍लेटफॉर्म पर टियर-2 और टियर-3 सिटीज के अलावा रूरल इंडिया के यूजर की संख लगातार बढ़़ रही है, जो कि स्‍टार्टअप या फिर बिग बिजनेस प्‍लेयर के लिए बडा कस्‍टमर बस है।

कम बजट में भी अधिक पहुंच है संभव - वर्ष 2019 में सोशल मिडिया एडवरटाइजिंग पर करीब 4 हजार करोड़ रूपए खर्च किए गए। जबकि डिजिटल एडवरटाइजिंग के अन्‍य सेक्‍शन में भी एडवरटाइजिंग को लेकर क्रेज बढा है लेकिन सोशल मीडिया का प्रतिशत अधिक हैा एक्‍सपर्ट का कहना है कि इसकी ओर रूझान का प्रमुख कारण है कम बजट में अधिक लोगों तक पहुंच, जोकि लोगों को आकर्षित भी कर रहा है।

कैसी हो आपकी प्‍लानिंग - यदि आपने स्‍टार्टअप वर्ल्‍ड मे अभी एंट्री ली है तो आपको सबसे अधिक फोकस सोशल मीडिया एडवरटाइजिंग पर करने की जरूरत है। एडवरटाइजिंग के किसी भी तरीके को अपनाने से पहले आप डिजिटल मार्केटिंंग कंपनी की मदद लें। कंपनी का सलेक्‍शन उसके काम के अनुभव के आधार से करे। इसके बाद अपने बजट और प्रोडक्‍ट की डिटेल जानकारी कंपनी के साथ शेयर करें। शुरूआत में आप कंपनी के साथ कम से कम छह माह का कांट्रेक्‍ट करे। इसके बाद आप रिव्‍यू करें कि प्‍लानिंग में कहां और कितने बदलाव की जरूरत है। मिल रहे रेस्‍पाॅॅॅॅन्‍सपर भी लगातार काम करने की आवश्‍यकता है।

Post a Comment

1 Comments