जानिये क्या है कूलिंग तकनीक, जो आजकल के लगभग सभी फोन में दी जाती है

HTML/JavaScript

Click Here To Join Bulletprofit

जानिये क्या है कूलिंग तकनीक, जो आजकल के लगभग सभी फोन में दी जाती है

आजकल जो फोन बाजार में आ रहे है उनमें लिक्विड कूलिंग और कूलिंग टेक्नोलॉजी होती है। संभवतया अपने यह बात कई बार सुनी होगी। इस तकनीक की मदद से फोन का हार्डवेयर ठंडा रहता है। आपने देखा होगा पहले फोन को हम थोड़ा ज्यादा इस्तेमाल कर लेते थे तो वह गर्म हो जाता था और उसका पीछे का हिस्सा हीट देने लगता था। ऐसी स्तिथि में फोन पर काम करना काफी कठिन हो जाता था। इससे फोन की बैटरी पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता था।
समय के साथ फोन में नई-नई तकनीक आने लगी है, जिन्हें हम कूलिंग तकनीक कहते है। इन तकनीकों की मदद से फोन को ठंडा रखने में सहायता मिलती है। लेकिन आज भी लोग इस तकनीक के बारे में ठीक से पूरी जानकारी नहीं रखते है। आपकी जानकारी के लिए बता दे आजकल के फोनो में कई तरह के फीचर्स होते है जैसे वीडियो गेम्स, म्यूजिक और कॉलिंग आदि। इन सभी का इस्तेमाल करने से फोन गर्म होने लगता है और कार्य करने में बाधा होती है।

लेटेस्ट फोन होते है कूलिंग तकनीक से लैस

फोन को हीटिंग से बचाने के लिए मोबाइल कंपनियों ने कूलिंग तकनीक की मदद ली है। आजकल आने वाले लगभग सभी फोन कूलिंग तकनीक से लैस होने लगे और यूजर्स के लिए लाभदायक भी रहे है। सैमसंग कंपनी ने सबसे पहले अपने फोन में इस तकनीक का इस्तेमाल किया। दरअसल इसमें वॉटर कूलिंग पाइप के साथ कॉपर थर्मल हीट पाइप होता है, जिसकी मदद से ऊष्मा को सीपीयू से दूर ले जाने में मदद मिलती है। इसमें कम मात्रा में द्रव होता है।
जब कूलिंग सिस्टम प्रक्रिया के तहत फोन का हार्डवेयर ठंडा किया जाता है। उस वक्त प्रोसेसर उष्मा निकालता है और वह द्रव बनकर सीपीयू को ठंडा कर देता है। बाद में भाप अपोजिट दिशा में जाती है और फिर से द्रव में बदल जाती है और दोबारा सीपीयू में ा जाती है। यह प्रक्रिया चलती रहती है जिसे कार्बन फाइबर थर्मल इंटरफेस मटेरियल के साथ किया जाता है। आजकल फोनों में थर्मल जेल कूलिंग सिस्टम भी काफी इस्तेमाल किया जाने लगा है।

Post a Comment

2 Comments