HTML/JavaScript

भारतीय संविधान सभा (Constitution assembly of India )



भारतीय संविधान सभा (Constitution assembly of India )
कैबिनेट मिशन के संस्तुतियों के आधार पर भारतीय संविधान के निर्माण करने वाली संविधान सभा का गठन जुलाई ,1946 में किया गया |
Note भारत के लिए संविधान सभा की रचना हेतु विधानसभा का विचार सर्वप्रथम स्वराज्य पार्टी ने 1924 में प्रस्तुत की |


  • संविधान सभा के सदस्यों की कुल संख्या 389 निश्चित की गई थी , जिनमें 292 ब्रिटिश प्रांतों के प्रतिनिधि , 4 चीफ कमिश्नर क्षेत्रों के प्रतिनिधि एवं 93 देशी रियासतों के प्रतिनिधि थे |
    1. मिशन योजना के अनुसार जुलाई , 1946 में सविधान सभा का चुनाव हुआ | कुल 389 सदस्यों में से प्रांतों के लिए निर्धारित 296 सदस्यों के लिए चुनाव हुए, जिन्हें विधानसभा प्रांतों की विधानसभाओं द्वारा चुना गया | इसमें कांग्रेस के 208 मुस्लिम लीग के 73 स्थान एवं 15 अन्य दलों के तत्व स्वतंत्र निर्वाचित हुए|
    2. 9 दिसंबर,1946 को संविधान सभा के प्रथम बैठक नई दिल्ली स्थित काउंसिल चेंबर के पुस्तकालय भवन में हुई | सभा के सबसे बुजुर्ग सदस्य डॉ सच्चिदानंद सिन्हा को सभा का अस्थाई अध्यक्ष चुना गया | मुस्लिम लीग ने इस बैठक का बहिष्कार किया और पाकिस्तान के लिए बिल्कुल अन्य संविधान सभा की मांग प्रारंभ कर दी|
    3. हैदराबाद एक ऐसी देसी रियासत थी, जिसके प्रतिनिधि संविधान सभा के सम्मिलित नहीं हुए थे|
    4. संविधान सभा के सदस्यों में अनुसूचित जनजाति के सदस्यों की संख्या 33 थी|
    5. संविधान सभा में महिला सदस्यों की संख्या 15 थी|
    6. 11 दिसंबर, 1946 को डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद संविधान सभा के स्थाई अध्यक्ष निर्वाचित हुए|
    7. संविधान सभा के कार्यवाही 13 दिसंबर, 1946 को जवाहरलाल नेहरू द्वारा पेश किए गए उद्देश्य प्रस्ताव के साथ प्रारंभ हुई |
    8. देश विभाजन के बाद संविधान सभा का पुनर्गठन 31 अक्टूबर,1947 को किया गया और 31 दिसंबर, 1947 को संविधान सभा के सदस्यों की कुल संख्या 299 थी, जिसमें प्रांतीय सदस्यों की संख्या 229 एवं देशी रियासतों की संख्या 70 थी|
    9. संविधान निर्माण की प्रक्रिया में कुल 2 वर्ष 11 महीना और 18 दिन लगे | संविधान के प्रारूप पर कुल 114 दिन बहस हुई संविधान निर्माण कार्य में कुल मिलाकर ₹63,96,729 खर्च हुए|
    10. संविधान को जब 26 नवंबर ,1949 को संविधान सभा द्वारा पारित किया गया, तब इसमें कुल 22 भाग, 395 अनुच्छेद और 8 अनुसूचियां थी | वर्तमान समय में संविधान में 22 भाग, 395 अनुच्छेद एवं 12 अनुसूचियां हैं|
    11. संविधान के कुल अनुच्छेद में से 15 अर्थात 5 ,6 ,7, 8 ,9, 7 ,324 ,366 ,367 ,372 ,380, 388, 391,3392,393 अनुच्छेद को 26 नवंबर, 1949 को घोषित कर दिया गया ,जबकि शेेष अनुच्छेदों को 26 जनवरी, 1950 को लागू किया गया|
    12. संविधान सभा की अंतिम बैठक 24 जनवरी, 1950 इसी को हुई और उसी दिन से विधानसभा के द्वारा डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद को भारत का प्रथम राष्ट्रपति चुना गया|

    13. Note 26 जुलाई, 1947 को गवर्नर जनरल ने पाकिस्तान के लिए पृथक संविधान सभा की स्थापना की घोषणा की|

    Post a Comment

    2 Comments