HTML/JavaScript

आईए मशीनी भाषा को समझते है, और बाईनरी कोड क्या है।

जिस प्रकार मनुष्‍य को आपस में संवाद करने के लिये या निर्देश देने के लिये भाषा की जरूरत होती है उसी प्रकार कंप्‍यूटर को भी निर्देश देनेे के लिये एक भाषा की आवश्‍यकता होती है
अब कंप्‍यूटर आपकी भाषा में तो निर्देश लेे नहीं सकता है कि "कंप्‍यूटर महोदय टाइप कर दो" इसलिये कंप्‍यूटर काेे निर्देश देने के लिये एक भाषा का निर्माण किया गया.
  • मशीनी भाषा ( Machine language )
वह भाषा होती है जिसमें केवल 0 और 1 दो अंको का प्रयोग होता है यह कंप्‍यूटर की आधारभूूत भाषा होती है जिसे कंप्‍यूटर सीधे सीधे समझ लेता है,
मशीनी भाषा बायनरी कोड में लिखी जाती है जिसके केवल दो अंक होते हैं 0 और 1 चूंकि कम्प्यूटर मात्र बाइनरी संकेत अर्थात 0 और 1 को ही समझता है
और कंप्‍यूटर का सर्किट यानी परिपथ इन बायनरी कोड को पहचान लेता है और इसे विधुत संकेतो ( Electrical signals ) मे परिवर्तित कर लेता है इसमें 0 का मतलब low या Off है और 1 का मतलब High या On है।
  • मशीनी भाषा में तैयार प्रोग्राम 
चूंकि मशीनी भाषा में किसी भी प्रोग्राम को लिखना बहुत कठिन है, अगर आपको मशीनी भाषा में यानि बायनरी में लिखना हो -
तो आपको यह मशीनी भाषा ( Machine language ) में कुछ ऐसा लिखना होगा -
01001001 00100000 01001100 01001111 01010110 01000101 00100000 01001101 01011001 01000010 01001001 01000111 01000111 01010101 01001001 01000100 01000101 00101110 01000011 01001111 01001101
चूंकि मशीनी भाषा मे मात्र दो अंको 0 और 1 की श्रृंखला का प्रयोग होता है।
अत: इसमे त्रुटि होने की सम्भावना अत्यधिक है। और प्रोग्राम मे त्रुटि होने पर त्रुटि को तलाश कर पाना बहुत कठिन है इस कारण वर्तमान में मशीनी भाषा में प्रोग्राम नहीं लिखे जाते हैं

Note- अगर किसी संख्या का बाइनरी कोड निकालना हो तो हमैं 2 का भाग देना हो गा। भाग देने पर जो भी शेषफल आएगा वही बाइनरी कोड होता है।

Post a Comment

1 Comments