HTML/JavaScript

इंटरनेट का अविष्कार किसने किया था ?

इंटरनेट के अविष्कार के बारे में सबसे पहले बात करने वाले व्यक्ति का नाम जे.सी.आर. लिकलिडर था | उन्होंने इसका नाम रखा था “गेल्कटिक नेटवर्क (galactic Network)" | उस समय इस तकनीक को बनाने का कारण किसी भी जानकारी को एक स्थान से दुसरे स्थान तक पहुचाना था | उस समय इंटरनेट का उपयोग सिर्फ सरकार और वैज्ञानिको ही कर सकते थे |
एक सवाल उठता है की उस समय भी किसी भी जानकारी को हम टेलीफोन के सहारे एक जगह से दूसरी जगह  पहुचा सकते थे फिर इस इंटरनेट की क्यों आवश्कता पड़ी ?

इसका कारण था सोवियत यूनियन का डर | उस समय अमेरिका और सोवियत यूनियन के बिच शीतयुद्ध हो रहा था | और अमेरिका को डर था की कही रूस उनकी टेलीफोन पर बताई गयी जानकारी को सुन न ले , इसलिए अमेरिका ने इंटरनेट का अविष्कार किया | उस समय इंटरनेट नयी तकनीक थी जिसके बारे में रूस को पता नहीं था | लेकिन शुरुवाती दिनों में कंप्यूटर एक कमरे के साइज़ के होते थे और उनकी स्पीड काफी धीरे थी | लेकिन वैज्ञानिको ने अपनी मेहनत से उस में कई सुधार किये और पहली बार 1969  में पहला मेसेज भेजा गया | ये मेसेज यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया से यूनिवर्सिटी ऑफ़ स्टेनफोर्ड में भेजा गया था | लेकिन मेसेज का केवल एक शब्द “login” पहुच पाया था और उसके बाद कंप्यूटर क्रेश हो गया , लेकिन पहली बार किसी जानकारी को इस प्रकार से भेजा गया था | और इस प्रकार से इंटरनेट का अविष्कार हुआ | उसके बाद उसमे कई सुधार किये गए | 1970 में पहली बार एक कंप्यूटर इंजिनीयर जिनका नाम “विन्टन सर्फ” था उन्होंने “transition control protocol  का निर्माण जिसे हम आज TCP/IP के नाम से जानते है ये किसी भी दो नेटवर्क को जुड़ने में मदद करता था और कोई तीसरा नेटवर्क इसमें दखल नहीं दे सकता था | ये आज भी काफी उपयोगी है इंटरनेट में |

..... ARTICLE :MOHD SHOAIB

Post a Comment

1 Comments