हार्ट अटैक के लक्षणों को इस तरह से पहचानें

HTML/JavaScript

हार्ट अटैक के लक्षणों को इस तरह से पहचानें

बदलती जीवनशैली और खानपान के कारण हृदयाघात की समस्या लोगों में बढ़ रही है . ऐसे में यदि लक्षणों को पहचान लिया जाए तो समय पर इलाज मिल सकता है .
यदि बिना अभ्यास या मेहनत किए बगैर सामान्य से ज्यादा पसीना आए तो यह हृदयाघात का लक्षण होने कि सम्भावना है . रक्त की पम्पिंग करते समय दिल को जब ज्यादा कोशिश करना पड़ता है तो आवश्यकता से ज्यादा पसीना आता है . हृदयाघात के समय शरीर के ऊपरी हिस्से, छाती में बेचैनी या दर्द होने कि सम्भावना है .
एक या दोनों बांहों, गर्दन, जबड़ों या पेट में बेचैनी, दर्द हो तो लापरवाही किए बिना तुरंत चिकित्सक को दिखाएं .
यदि मरीज को ज्यादातर समय थकान महसूस होती है या सीढिय़ां चढ़ने और थोड़ा वजन उठाते ही वह थक जाता है तो इसका मतलब है कि दिल शरीर की आवश्यकता के अनुसार पम्पिंग नहीं कर रहा है . ऐसी स्थिति में देर किए बगैर विशेषज्ञ से सम्पर्क करें .
बार-बार गुमराह होना और उच्चारण गुनाह भी हृदयघात की ओर संकेत होने कि सम्भावना है .

Post a Comment

0 Comments